विदेशों में भारत के इन राज्यों के सामानों की है भारी डिमांड, ऐमजॉन इंडिया ने बताया

विदेशों में भारत के इन राज्यों के सामानों की है भारी डिमांड, ऐमजॉन इंडिया ने बताया

amazonऐमजॉन इंडिया का कहना है कि पंजाब और हरियाणा में निर्मित हौजरी, खेल के सामान और अन्य उत्पादों की वैश्विक ग्राहकों में अच्छी मांग दिख रही है।

ऐमजॉन ने आगे बताया कि उसका प्रमुख ई-कॉमर्स निर्यात कार्यक्रम ‘ग्लोबल सेलिंग’ सूक्ष्म, लघु और मझोले उपक्रमों के लिए अपने कारोबार का विस्तार करने और देश में कहीं से भी अपने ब्रांड को वैश्विक स्तर पर पेश करने के लिए प्रवेश बाधा को कम करता है।

ऐमजॉन इंडिया ने एक बयान में कहा, देश के विभिन्न हिस्सों से 70,000 से अधिक निर्यातकों के साथ, यह कार्यक्रम व्यवसायों के विकास के अवसर के रूप में उभरा है।

ऐमजॉन इंडिया के निदेशक वैश्विक व्यापार अभिजीत कामरा ने कहा कि इस निर्यात कार्यक्रम ने पूरे भारत के हजारों निर्यातकों को महामारी के पिछले 18 महीनों के दौरान विश्व स्तर पर लोगों की सेवा करते हुए अपने व्यवसाय को बनाए रखने और बढ़ाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है।

उन्होंने कहा, “हम वैश्विक ग्राहकों से परिधान, हौजरी, खेल के सामान और अन्य उत्पादों और पंजाब, हरियाणा और चंडीगढ़ में निर्मित उत्पादों के लिए एक बड़ी मांग देखते हैं।’’ उन्होंने कहा, ‘‘हम वास्तव में मानते हैं कि ऐमजॉन ग्लोबल सेलिंग द्वारा पेश किए गए टूल और तकनीक के सही सेट के साथ इस क्षेत्र के निर्यातक यहीं से उपभोक्ताओं को वैश्विक ब्रांड उपलब्ध करा सकते हैं।’’

कंपनी ने कहा कि पंजाब और हरियाणा में प्रमुख विनिर्माण और निर्यात समूहों से एमएसएमई अब मौजूदा निर्यात कारोबार बढ़ा सकते हैं और ऐमजॉन के ग्लोबल सेलिंग कार्यक्रम के माध्यम से नए उद्यम शुरू कर सकते हैं। पंजाब में, कुछ श्रेणियां हैं जिन्होंने निर्यात की मांग में वृद्धि देखी है।अमृतसर में जहां बोर्ड गेम और क्रिकेट प्रमुख श्रेणियां हैं, लुधियाना के शिशु देखभाल उत्पाद, आहार पूरक, तौलिए भी काफी लोकप्रिय हैं। हरियाणा के विभिन्न क्षेत्रों में विभिन्न श्रेणियों में भी मांग में वृद्धि देखी गई है। कंपनी ने कहा कि फरीदाबाद से हेयर हिना, पानीपत से कंबल, पर्दे, बालों का तेल और गुरुग्राम से टॉर्च लाइट जैसे उत्पाद हरियाणा में शीर्ष श्रेणियों में शामिल हैं।

Kavita Singh

Kavita Singh

कविता सिंह ''सच भारत'' में टेक्नोलॉजी और बिजनेस डेस्क को लीड कर रही हैं। पत्रकारिता की दुनिया में 6 वर्ष का अनुभव रखने वाली कविता ने आईआईएमसी से हिंदी पत्रकारिता में पीजी डिप्लोमा किया है। इन्होंने अपनी शुरुआती पढ़ाई लुधियाना में पूरी की है।

Related articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *