Independence Day Red Fort: आतंकी घटना के खतरे से किले में तब्दील हुआ लाल किला, 40 हजार जवान, 9 एंटी ड्रोन सिस्टम तैनात

Independence Day Red Fort: आतंकी घटना के खतरे से किले में तब्दील हुआ लाल किला, 40 हजार जवान, 9 एंटी ड्रोन सिस्टम तैनात

Independence Day Red Fort: खुफिया एजेंसियों को ऐसी जानकारी मिली है कि आतंकी संगठन लाल किले (Red Fort) या उसके आसपास हमले की फिराक में हैं। जैश ए मोहम्मद, लश्कर तैयबा और खालिस्तानी आतंकियों से सबसे ज्यादा खतरा है। खबर है कि आतंकी पुलिस की वर्दी में भी आ सकते हैं इसलिए दिल्ली पुलिस (Delhi Police) दिल्ली के सभी बस अड्डों में जबरदस्त चेकिंग अभियान (Security on Independance Day Delhi) चला रही है।

कंटेनर से लाल किले की घेराबंदी (First Time Big Container In Front Of Red Fort)

सामने आई जानकारी के अनुसार, तमाम खतरों को देखते हुए लाल किले (Red Fort) की सुरक्षा को अभेद बनाया गया है। लाल किले के मुख्य द्वार को कंटेनर लगाकर बंद कर दिया गया है। गौरतलब है कि यह सुरक्षा के लिहाज से पहली दफा हुआ है जिसकी चर्चा पूरे सोशल मीडिया पर भी है। 40 हजार जवान लाल किले की सुरक्षा में तैनात हैं। 9 एन्टी ड्रोन सिस्टम लगाए गए हैं। लाल किले के आसपास 30 जगहों पर एनएसजी के जवान तैनात हैं। 15 जगहों पर एनएसजी के स्नाइपर्स तैनात किए गए हैं।

लाल किले पर कड़ी सुरक्षा (Tight Security at Red Fort)

सूत्रों ने बताया कि लाल किले के आसपास 9 किलोमीटर के दायरे में खास निगरानी की जा रही है। 350 रूफ टॉप तैनात रहेंगे। इनके पास सफेद और लाल झंडा होगा। खतरा होने पर लाल झंडा दिखाएंगे। पतंगों को उड़ने से रोकने के लिए काइट्स कैचर की तैनाती की गई। एयर डिफेंस सिस्टम की भी तैनाती की गई है। करीब 300 से ज्यादा सीसीटीवी कैमरों से निगरानी हो रही है।

द्वारका के डीसीपी संतोष कुमार मीणा ने बताया, ”दिल्ली पुलिस को खुफिया एजेंसियों से जो अलर्ट मिला है उसके मुताबिक, दिल्ली में लश्कर-ए-तैयबा, जैश-ए-मोहम्मद और खालिस्तानी आतंकी दिल्ली में हमला करने की फिराक में हैं, इसलिए दिल्ली के अभी बाजारों, साइबर कैफे और बाहर से आने वाले लोगों,विदेशी नागरिकों पर खास नजर रखी जा रही है।”

डीसीपी, रेलवे हरेंद्र कुमार सिंह का कहना है, “बस अड्डों की तरह रेलवे स्टेशनों पर भी भारी सुरक्षा इंतजाम हैं। दिल्ली पुलिस आरपीएफ के साथ मिलकर ट्रेनों से आने वाले मुसाफिरों पर खास नजर बनाये हुए है। खबर है कि पुलिस की वर्दी में आतंकी आ सकते हैं इसलिए डॉग स्क्वाड, बम डिटेक्शन टीम की मदद से यात्रियों और उनके सामान की जांच की जा रही है।”

Amit Singh

Amit Singh

अमित सिंह, सच भारत में राजनीति और मनोरंजन सेक्शन लीड कर रहे हैं। उन्हें पत्रकारिता में करीब 5 साल का अनुभव है। इन्हें राजनीति और मनोरंजन क्षेत्र कवर करने का अच्छा अनुभव रहा है।थियेटर एक्टर रह चुके अमित ने टीवी से लेकर अखबार और देश की विभिन्न विख्यात वेबसाइट्स के साथ काम किया है।इन्होंने राष्ट्रीय स्तर की दर्जनों शख्सियतों का वीडियो और प्रिंट इंटरव्यू भी लिया है।अमित सिंह ने अपनी स्कूली शिक्षा लखनऊ से प्राप्त करने के बाद जामिया मिलिया इस्लामिया, नई दिल्ली से टीवी पत्रकारिता की पढ़ाई पूरी की है।

Related articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *