ट्विटर ने अपनी वेबसाइट से हटाया गलत नक्शा, जम्मू-कश्मीर और लद्दाख को दिखाया था अलग देश

ट्विटर ने अपनी वेबसाइट से हटाया गलत नक्शा, जम्मू-कश्मीर और लद्दाख को दिखाया था अलग देश

ट्विटर ने अपनी वेबसाइट से भारत का गलत नक्शा हटा लिया है। इससे पहले प्लेटफॉर्म पर जारी नक्शे में लद्दाख और जम्मू कश्मीर को भारत से अलग देश दिखाने पर बवाल हो गया था। इस मामले में सरकार ने भी ट्विटर के खिलाफ सख्त रवैया अपनाया था। सरकार के गंभीरता का अंदाजा इसी से लगा सकते हैं कि कार्रवाई के लिए तथ्य जुटाने का आदेश दिया था। हालांकि भारी दबाव के बीच ट्विटर को गलत नक्शा हटाना पड़ा है।

गौरतलब है कि बीते कुछ दिनों से ट्विटर और केंद्र सरकार के बीच लगातार तनातनी मची हुई है। इस बार गलत नक्शा हटाए जाने के बाद भी ट्विटर की परेशानी और बढ़ सकती है। ट्विटर की वेबसाइट पर भारत के नक्शे के साथ छेड़छाड़ की गई थी। ट्विटर ने वेबसाइट पर जम्मू-कश्मीर और लद्दाख को अलग देश के तौर पर दिखाया था।

वहीं भारत सरकार ने इस मुद्दे पर संज्ञान ले लिया। सरकारी सूत्रों की मानें तो सरकार इसे लेकर कई तथ्य जुटा रही है, जैसे- नक्शे में कब बदलाव किए गए, यह नक्शा कब वेबसाइट पर डाला गया और नक्शे में बदलाव के पीछे की मंशा क्या है। वो कौन लोग हैं, जिन्होंने ट्विटर को यह नक्शा दिया, किन लोगों ने ट्विटर पर यह नक्शा अपलोड करवाया। सूत्रों की मानें तो सरकार इस पर कड़ी कार्रवाई कर सकती है।

करियर पेज पर दिखाया था गलत नक्शा
ट्विटर के करियर पेज पर ट्वीप लाइफ सेक्शन में वर्ल्ड मैप है। यहां से कंपनी दिखाती है कि दुनिया में कहां-कहां ट्विटर की टीम है। इस मैप में भारत भी है लेकिन भारत का नक्शा विवादित दिखाया गया था। इससे पहले भी लद्दाख के हिस्से को भारत का हिस्सा नहीं दिखाया गया था। हालांकि बाद में इसे ठीक कर लिया गया था।

अब क्योंकि भारत सरकार खुले तौर पर ट्विटर का विरोध कर रही है और केंद्रीय कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद यह कह चुके हैं कि ट्विटर भारत को लेकर दोहरा रवैया रखता है तो ऐसे में ये मामला और गंभीर हो सकता है। रविशंकर प्रसाद पहले भी कह चुके हैं कि ट्विटर की मंशा ठीक नहीं लगती है। ऐसे में गलत नक्शा हटाए जाने के बावजूद सरकार कार्रवाई कर सकती है।

Kavita Singh

Kavita Singh

कविता सिंह ''सच भारत'' में टेक्नोलॉजी और बिजनेस डेस्क को लीड कर रही हैं। पत्रकारिता की दुनिया में 6 वर्ष का अनुभव रखने वाली कविता ने आईआईएमसी से हिंदी पत्रकारिता में पीजी डिप्लोमा किया है। इन्होंने अपनी शुरुआती पढ़ाई लुधियाना में पूरी की है।

Related articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *