Wimbledon : रोजर फेडरर का करिश्मा बरकरार, 104वीं जीत के साथ 18वीं बार चौथे दौर में एंट्री

आठ बार के चैंपियन रोजर फेडरर (roger federer) का करिश्मा बरकरार है। वह 18वीं बार विंबलडन (Wimbledon) के चौथे दौर में पहुंच गए।

रिकॉर्ड 21वें ग्रैंड स्लैम के लिए खेल रहे फेडरर ने तीसरे दौर में ब्रिटिश खिलाड़ी कैमरून नोरी को 6-4, 6-4, 5-7, 6-4 से हरा दिया।

गौरतलब है कि विंबलडन में यह फेडरर की 104वीं जीत थी। क्वार्टरफाइनल में जगह बनाने के लिए फेडरर का सामना सोमवार को इटली के लोरेंजो सोनेगो से होगा।

बता दें कि इससे पहले फेडरर ने दूसरे दौर में ब्रिटिश खिलाड़ी 35 साल के रिचर्ड गास्केट को 7-6 (7-1), 6-1, 6-4 के अंतर से हराया था।

17 साल की कोको गॉफ पहुंची चौथे दौर में
अमेरिका की 17 वर्षीय कोको गॉफ ने काजा जुवान पर 6-3 6-3 से जीत दर्ज कर विम्बलडन टेनिस ग्रैंडस्लैम के चौथे दौर में प्रवेश किया। गॉफ 2019 में भी यहां तक का सफर तय करने में सफल रही थीं। उन्होंने अपनी प्रतिद्वंद्वी को हराने के लिए 21 विनर लगाए और पांच बार सर्विस तोड़ी। अब गॉफ का सामना सोमवार को पूर्व विंबलडन चैंपियन एंजलिक कर्बर से होगा।

माटियो बेरेटिनी ने अगले दौर में प्रवेश किया
पुरुषों के वर्ग में सातवीं वरीयता प्राप्त माटियो बेरेटिनी ने एलजाज बेडेने पर 6-4, 6-4, 6-4 की जीत से अगले दौर में जगह बनाई। वहीं एम्मा राडूकानू ओपन युग में विंबलडन के चौथे दौर में पहुंचने वाली युवा ब्रिटिश महिला खिलाड़ी बन गईं।

राडूकानू अपना पहला ग्रैंडस्लैम टूर्नामेंट 
18 वर्षीय राडूकानू अपना पहला ग्रैंडस्लैम टूर्नामेंट खेल रही हैं और उन्होंने तीसरे दौर में अनुभवी सोराना सर्स्टी को 6-3, 7-5 से हराया। राडूकानू से पहले देबोराह जेवांस 19 साल की उम्र में 1979 में विम्बलडन के चौथे दौर में पहुंचने वाली युवा ब्रिटिश महिला खिलाड़ी थीं।

ड्रॉ में अब कर्बर एकमात्र पूर्व महिला चैंपियन
कर्बर ने बारिश से विलंब के बाद तीसरे दौर के मुकाबले में वापसी करते हुए आलिकसांद्रा सासनोविच को 2-6, 6-0, 6-1 से मात दी। ड्रॉ में अब कर्बर एकमात्र पूर्व महिला चैंपियन बची हैं। सासनोविच ने पहले दौर में सेरेना विलियम्स के चोट के कारण हटने से दूसरे दौर में प्रवेश किया था।

Nitesh Sharma

Nitesh Sharma

नितेश शर्मा ''सच भारत'' में स्पोर्ट्स डेस्क को लीड करते हैं। दिल्ली के रहने वाले नितेश ने माखनलाल चतुर्वेदी कॉलेज से पत्रकारिता में एमए किया है। खेल की दुनिया में रूचि रखने वाले नितेश खेल पत्रकारिता में करीब चार साल का अनुभव रखते हैं।

Related articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.